ACCI accoi
accoi

Working Area National & International
197/LD, Street No. 11, Bholanath Nagar, Shahadra, New Delhi - 110032
Contact No. - 09971510070, 08510955005, 09415981234
E-mail: presidentaccoi@gmail.com

International Anti Corruption Day 9 December

Welcome to Anti Corruption Committe of India

Anti corruption committee of India is an organisation to help the people's those who become the victims of corruption.

Corruption is a barrier to achieving the Millennium Development Goals and needs to be taken into account in defining and implementing a robust post-2015 development agenda.

Corruption is a complex social, political and economic phenomenon that affects all countries. Corruption undermines democratic institutions, slows economic development and contributes to governmental instability. Corruption attacks the foundation of democratic institutions by distorting electoral processes, perverting the rule of law and creating bureaucratic quagmires whose only reason for existing is the soliciting of bribes. Economic development is stunted because foreign direct investment is discouraged and small businesses within the country often find it impossible to overcome the "start-up costs" required because of corruption.

Message Board

आज के आधुनिक युग में व्यक्ति का जीवन अपने स्वार्थ तक सीमित होकर रह गया है। प्रत्येक कार्य के पीछे स्वार्थ प्रमुख हो गया है। समाज में अनैतिकता, अराजकता और स्वार्थ से युक्त भावनाओं का बोलबाला हो गया है।

परिणामस्वरुप भारतीय संस्कृति और उसका पवित्र तथा नैतिक स्वरुप धुँधा हो गया है। इसका एक कारण समाज में फैल रहा भ्रष्टाचार भी है।

कमरतोड़ महंगाई भी इसमें इजाफ़ा करने का काम कर रही है। मनुष्य की आवश्यकताएँ बढ़ जाने के कारण वह उन्हें पूरा करने के लिए मनचाहे तरीकों को अपना रहा है।

भ्रष्टाचार के इस विकराल रुप को धारण करने का सबसे बड़ा कारण है, आज के अर्थप्रधान युग में प्रत्येक व्यक्ति धन प्राप्त करने में लगा हुआ है। भारत के अंदर तो भ्रष्टाचार का फैलाव दिन-भर-दिन बढ़ रहा है। किसी भी क्षेत्र में चले जाएं भ्रष्टाचार का फैलाव दिखाई देता है। भारत के सरकारी व गैर-सरकारी विभाग इस बात का सबसे बड़ा प्रमाण हैं।

आप यहाँ से अपना कोई भी काम करवाना चाहते हैं, बिना रिश्वत खिलाए काम करवाना संभव नहीं है। भारत के सरकारी व गैर-सरकारी विभाग इस बात का सबसे बड़ा प्रमाण हैं। आप यहाँ से अपना कोई भी काम करवाना चाहते हैं, बिना रिश्वत खिलाए काम करवाना संभव नहीं है। बैंक जोकि हर देश की अर्थव्यवस्था का आधार स्तंभ हैं, वे भी भ्रष्टाचार के इस रोग से पीड़ित हैं। आप किसी प्रकार के लोन के लिए आवेदन करें पर बिना किसी परेशानी के फाइल निकल जाए, यह तो संभव नहीं हो सकता। देश की आंतरिक सुरक्षा का भार हमारे पुलिस विभाग पर होता है।

परन्तु आए दिन यह समाचार आते-रहते हैं कि आमुक पुलिस अफ़सर ने रिश्वत लेकर एक गुनाहगार को छोड़ दिया। भारत को इस तरह का भ्रष्टाचार खोखला बना रहा है।हमारे समाज में फन फैला रहे, इस विकराल नाग को मारना होगा। सबसे पहले आवश्यक है प्रत्येक व्यक्ति के मनोबल को ऊँचा उठाया जाए। प्रत्येक व्यक्ति को अपने कर्तव्यों का निर्वाह करते हुए अपने को इस भ्रष्टाचार से बाहर निकालना होगा। यही नहीं शिक्षा में कुछ ऐसा अनिवार्य अंश जोड़ना होगा, जिससे हमारी नई पीढ़ी प्राचीन संस्कृति तथा नैतिक प्रतिमानों को संस्कार स्वरुप लेकर विकसित हो।

न्यायिक व्यवस्था को कठोर करना होगा तथा सामान्य जन को आवश्यक सुविधाएँ भी सुलभ करानी होगी। इसी आधार पर आगे बढ़ना होगा, तभी इस स्थिति में कुछ सुधार की अपेक्षा की जा सकती है।

vr% vkt izR;sd Hkkjroklh dks ,d laDyi djuk gksxk fd Hkkjr dh nqnZ'kk dks Bhd djuk gS rFkk Hkz"Vkpkj dk tM+ ls m[kkM+ Qsduk gS A blh laDyi dks /kkj.k dj

"Anti Corruption Committee Of India"

uked laxBu dh LFkkiuk dh x;h gSA Loa=rk laxzke ds 'kghnksa ds ladYiks dks ysdj ge Hkz"Vkpkj vkSj vR;kpkj ds fojks/k esa fcxqy ctkdj mu ladYiks dks Lo:i iznku djus gsrq iz;kljr gSA gesa vk'kk gh ugh vfirq iw.kZ fo'okl gS fd izR;sd Hkkjroklh gekjs bl vfHk;ku es dU/ks ls dU/kk feykdj Hkkjr ds uofuekZ.k esa gekjs laxBu dk lg;ksx djsxkA